रजनीश जायसवाल लेकर आ रहे है हिंदी फिल्म ‘चकल्लसपुर’


झांसी व पटना फिल्म महोत्सव और थर्ड आई एशियन फिल्म फेस्टिवल में दमदार उपस्थिति दर्ज कराने वाली फिल्म ”चकल्लसपुर” जल्द ही रिलीज हो सकती है फिल्म बन कर तैयार है . फिल्म में झांसी के आरिफ शहडोली ने अभिनय किया है और फिल्म पर अपनी गहरी छाप छोड़ी है. फिल्म का निर्देशन रजनीश जायसवाल ने किया है और फिल्म में आरिफ शहडोली के साथ ही मुकेश मानस, उर्मिला महंत, पद्मजा राय, त्रिपुरारी यादव जैसे अभिनेताओं ने अभिनय किया है.
फिल्म में पोस्टमास्टर के रोल में अपनी दमदार मौजूदगी का अहसास कराने वाले आरिफ शहडोली इससे पहले मणिरत्नम की रावण में एक बेहद छोटी सी भूमिका में नजर आये थे. फिल्म के निर्देशक रजनीश जायसवाल आरिफ के अभिनय की तारीफ करते हैं और बताते हैं कि आरिफ शहडोली से मुम्बई में मुलाकात हुई और उस समय वे इस फिल्म की प्लानिंग कर रहे थे. उसी मुलाकात के दौरान उन्होंने आरिफ को इस रोल का प्रस्ताव दिया. फिल्म में आरिफ ने प्रभावशाली अभिनय किया है और फेस्टिवल्स में आलोचकों का ध्यान अपनी ओर खींचने में सफल रहे हैं.
चकल्लसपुर एक ऐसे गाँव की कहानी है जो बिहार और उत्तर प्रदेश की दृश्य पर है. इस गाँव को और गाँव वासियों को कोई भी राज्य सरकार किसी भी तरह की सहायता उपलब्ध नही कराती जब गाँव वाले किसी भी सहायता की माँग करते हैं तो दोनो ही सरकार एक दूसरे की जिम्मेदारी बताकर अपना पल्ला साफ झाड़ लेती है और गाँव वाले इसे अपना भाग्य समझकर चुप्पी साध लेते हैं. इसी गाँव का सीधा साधा बिल्लू केवल 10 साल की उम्र मे गाँव छोड़कर शहर चला जाता है. जिल्लत भरा जीवन और ठोकर खाने के बाद जब वह गाँव वापस आता है तो अपने गाँव की काया पलटना चहता है और गाँव वालो की आशाए पूरी तरह टूट चुकी होती हैं . गाँव वालो को बिल्लू के आशा की किरन नजर आती है . जब वह रेडिओ पर सुनता है देश के प्रधानमंत्री की मन की बात तो वह प्रधानमंत्री कार्यालय तक अपनी आवाज़ एक सधारण ऐसे पत्र के जरिये पहुँचाता है जहाँ प्रधानमंत्री अचानक से बिल्लू के गाँव चकल्लसपुर का दौरा करते हैं और फ़िर पूरी होती है सभी गावो वालो की मन की बात .
निर्देशक रजनीश जायसवाल, निर्माता किरन जायसवाल, संगीतकार परवेश मलिक, गीतकार राम गौतम, छायकार कौशिक मण्डल, मुख्य भूमिका मुकेश मानस, उर्मिला महनता,त्रिपुरारी यादव, पदमज राय हैं .


(संजय भूषण पटियाला)